जल ही जीवन है ये बात हमको बचपन से ही पढ़ाई जाती है और फिर भी हम इस अनमोल जल को अहमियत नहीं समझते है  :



जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare
जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare 




इंसान हो या जानवर इस धरती पर अपना जीवन व्यतीत करने के लिए सबको जल को ज़रूरत होती है। बिना 
खाना खाए इंसान कुछ दिन तक जीवित रहे सकता है किंतु बिना पानी पिये वह एक दिन तक जीवित नहीं रह सकता है। जब नदिया सूखती है तो सिर्फ़ नदियों की जान नहीं जाती है इंसानो की भी जाती है, तमिलनायडू देश का ऐसा राज्य है, जहाँ नदियों के सूखने की वजह से लोगो की जान जा रही है और किसान आत्महत्या कर रहे है और जो किसान बच गए है वह दिल्ली में जा कर प्रदशन करते है और सरकार से राहत मांगते है आकड़ो के मुताबिक अक्टूबर 2016 से अब तक तमिलनायडू में 254 किसानो ने आत्महत्या कर चुके है, सिर्फ़ तमिलनायडू ही नहीं कर्नाटक और केरल में भी जल संकट है। जल का स्तर काफ़ी गिर गया है और आने वाली पीढ़ी के लिए बहुत ही समस्या होने वाली है आज हमको कपड़े धोने हो बर्तन साफ़ करने हो या फिर प्रतिदिन खुद को साफ़-सुथरा रखना हो या फिर अपने घर में पूजा करनी है सब कामों के लिए जल की ज़रूरत होती है अगर पानी नहीं तो भोजन भी नहीं हम बिना पानी के एक दिन भी नहीं रह सकते, हम समुन्द्र का पानी नहीं इस्तमाल कर सकते है और धरती पर ज़्यादा पानी समुन्द्र का ही है। समुन्द्र पानी का नमकीन और खारा होता है हम शुद्ध जल नदी और झील से प्राप्त होता है, पानी का स्रोत्र भूमिगत जल भी है, अपने कुआ तो देखा ही होगा उसमे पानी कहाँ से आता है? इसे ही हम भूमिगत जल कहते है, नलकूप का उपयोग भी भूमिगत जल को निकलने के लिए किया जाता है। वर्षा का जल भी ताजा पानी होता है बहुत से लोग इसे जमा करके उपयोग में लाते है, वर्षा का जल भी भूमि के अंदर जाता है और जिसे हम भूमिगत जल के रूप में उपयोग करते है। धरती का अधिकतर जल खारा है जिसे हम उपयोग नहीं कर सकते है, इसलिए हमे मीठे जल का उपयोग सावधानी से करना चाहिए इसे बर्बाद नहीं करना चाहिए। बहुत से देशो में लोगो को पीने के लिए पानी खरीदना पड़ता है। हमारा शरीर लगभग 60 % पानी से बना होता है।


जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare
जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare 

भारत की सूखती जलधारा

  • यूनाइटेड नेशन की एक रेप्रोट के मुताबिक पूरी दुनिया में 180 करोड़ लोग ऐसा पानी पीने के लिए मजबूर है जो दूषित है।
  • गन्दा पानी पीने की वजह से हर साल 8 लाख 42 हज़ार लोगो की मौत हो जाती है।
  • भारत की नदिया भी प्रदुषण का शिकार है, यानी गंगा और यमुना 2 ऐसे जीवित व्यक्ति है जो I.C.U में भर्ती है और इनकी जान बचाने के लिए इन्हे वेंटीलेटर पर रखा गया है।
  • देश के 18 राज्य ऐसे है जहाँ भूमिगत जल तेजी से कम हो रहा है, इसमें सबसे बुरा हाल तमिलनायडू का है। तमिलनायडू के 374 इलाको में भूमिगत जल काफी कम हो गया है।
  • देश के 91 बड़े जलशयों में क्षमता के मुकाबले सिर्फ़ 41 % पानी है (center water commission की रिपोर्ट के मुताबिक) 
पैसा बनाया जा सकता है फिर भी लोग बचाते है, लेकिन पानी नहीं बनाया जा सकता फिर भी लोग नहीं बचाते है पानी बचाओ वरना बून्द-बून्द के लिए तरसना पड़ेगा


जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare

जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare
जल  hi जीवन hai तो  जीवन barbad kyu kare 



हमारे दैनिक जीवन में पानी से होने वाले फायदे:-


  • पानी हमारे शरीर से waste Product को बाहर निकालता है और शरीर के Cells तक Nutrients पहुंचाने में मदद करता है
  • पानी से हमारे शरीर की कब्ज की शिकायत दूर होती है
  • एक शोध मुताबिक अगर हम खाना खाने से 30mins पहले पानी पीते है तो शरीर का वजन कम किया जा सकता है
  • पानी हमारी त्वचा की सुंदरता के लिए बहुत ज़रूरी है, हमे दिन में 2 लीटर पानी पीना चाहिए जिसे त्वचा की सुंदरता बनी रहे।




पानी की हर बून्द का सम्मान करे चाहे वह आसमान से गिरे या किसी की आँखों से



🔺🔺Please share if you like this Article🔺🔺



1 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post