पूरी दुनिया आज corona virus की महामारी से जूझ रही  hai  , हज़ारो जान इस खतरनाक वायरस से जा चुकी है और दुनिया के अलग अलग Desh के लाखो लोग Ab तक इस  virus  की चपेट में आ चुके है , तो सवाल ये उठता hai  आखिर ये खतरनाक corona virus क्या है और कैसे इस virus का नाम corona virus रखा गया और क्या symptoms है इस खतरनाक वायरस ke आइये जानते है , what is corona virus and its symptoms in Hindi  और ये आर्टिकल  आप patriotictech.com पर पढ रहे है 

what is corona virus and its symptoms in Hindi :-


दरसल, corona virus पहली बार नवंबर 2002 में मध्य चीन के हुबेई प्रांत के वुहान शहर में देखने को मिला था और फरवरी 2003 में इसकी पहचान की गई थी ।

सबसे पहले ये समझना जरुरी है आखिर है क्या corona virus ?

corona virus का एक बड़ा समूह है जो जानवरों में आम है। यह SARS  virus से संबंधित है। आमतौर पर ये  virus जानवरों को संक्रमित करते हैं। इसका सबसे पहला केस चीन के वुहान में सामने आया। इसके बाद यह तेजी से बीजिंग, शंघाई, झिंजियांग और अब अन्य देशों में फैल गया। यह virusतब फैलता है जब कोई स्‍वस्‍थ्‍य व्‍यक्ति किसी संक्रमित व्यक्ति के संक्रमण जैसे कि खांसी, छींक और हाथ के संपर्क में आता है। यह  virus शारीरिक संपर्क से भी फैल सकता है। corona virus, एक विशिष्ट virus फैमिली से संबंधित है। इस virus फैमिली में कुछ virus सामान्य रोगों जैसे- सर्दी, जुकाम और कुछ गंभीर रोगों जैसे श्वसन एवं आँत के रोगों का कारण बनते हैं।


कैसे इस  virus का नाम corona virus पड़ा 

 दरअसल, जब सूर्य को ग्रहण लगता है यानी सूर्य ग्रहण के वक्त जब पृथ्वी सूर्य को पूरी तरह ढक देती है तो गोले के रूप में सूरज दिखना तो बंद हो जाता है लेकिन उसकी किरणों द्वारा हर तरफ फैल रही रोशनी दिखाई पड़ती है, जो तेजी से कहीं ब्रह्मांड में विलुप्त होती हुई दिखती है। इसे इस तरह भी समझा जा सकता है कि यह सूरजमुखी के फूल की तरह की संरचना बन जाती है। जो बीच से काली होती है और इसके वृत्त के चारों तरफ नर्म किरणों का प्रकाश फैल रहा होता है, जैसे सूरजमुखी की पंखुड़ियां होती हैं। पृथ्वी की छाया के चारों तरफ फैल रही सूर्य की इस रोशनी को corona कहा जाता है। इसी कारण इस virus का नाम corona दिया गया क्योंकि इसकी बनावट corona जैसी ही है। दरअसल, यह virus गोल है और इसकी सतह पर पृथ्वी के corona की तरह प्रोटीन की स्टेन्स यानी शाखाएं उगी हुई हैं। जो हर दिशा में फैलती हुई महसूस होती हैं। और इस तरह इस खतरनाक virus का नाम corona virus पड़ा।  

कोरोनावायरस सामान्यतः छह प्रकार के होते हैं-
  1. 229E अल्फा corona virus (Alpha Coronavirus)
  2. NL63 अल्फा corona virus (Alpha Coronavirus)
  3. OC43 बीटा corona virus (Beta Coronavirus)
  4. HKU1 बीटा corona virus (Beta Corona virus)
  5. MERS-CoV
  6. SARS-CoV

चलिये अब देखते हैं, भारत मे करोना वायरस अचानक से इतना चर्चा में क्यों है?

👉 चीन के पश्चात भारत ही दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है।
👉 चीन में corona virus पिछले वर्ष के दिसंबर में खोजा गया था।
👉 अब तक दुनिया के 65 से लेकर 70 देश कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।
👉 भारत में भी 210 -220 संख्या में  corona virus के मामले सामने आए थे लेकिन उनमें से अधिकांश जांच में नेगेटिव ही साबित हुए थे।
👉 चीन के अलावा कई देश में संक्रमित मरीजों की मृत्यु हो चुकी है, लेकिन अब तक हमारे देश में  अबतक पांच लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे पहली मौत कर्नाटक के कुलबर्गी से, दूसरी मौत देश की राजधानी दिल्ली से तीसरी मौत महाराष्ट्र से और चौथी मौत पंजाब से हुई है। 
👉 हमे हमारे देश की सरकार एवं चिकित्सा तंत्र की क्षमता सतर्कता एवं जागरूकता पर भरोसा होना चाहिए।वर्तमान में हमारे देश की सरकार ने चीन से अधिकतम भारतीयों के साथ-साथ कुछ पड़ोसी और मित्र राष्ट्र के नागरिकों को भी सुरक्षित रेस्क्यू किया है।
👉 फिर भी भारत सरकार ने corona virus के लिए एक 24x7 हेल्पलाइन स्थापित की है। यदि कोई इसके बारे में जानना चाहता है या जानकारी मांग रहा है तो वह 011-23978046 पर प्रतिनिधियों से बात कर सकता है। सरकार ने लोगों को कोरोनो virus लक्षणों की शंका होने पर उसकी जांच कराने का आग्रह किया है।

Read Also:-  true love sad shayri in hindi 2020

👉 वायरस के लक्षण-


WHO  के अनुसार, इस virus के सामान्य लक्षणों में बुखार, खाँसी और सांस की तकलीफ़ जैसी शारीरिक समस्याएँ शामिल हैं।वहीं गंभीर संक्रमण में निमोनिया, किडनी का फेल होना शामिल हैं जिससे मनुष्य की मृत्यु तक हो सकती है।


what is corona virus and its symptoms in Hindi

  • सिरदर्द
  • नाक बहना
  • खांसी
  • गले में ख़राश
  • बुखार
  • अस्वस्थता का अहसास होना
  • छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना
  • थकान महसूस करना
  • निमोनिया, फेफड़ों में सूजन

इसे समझना भी जरूरी है


विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने हाल ही में घोषणा की है कि corona virus का वैश्विक जोखिम मध्यम से उच्च तक बढ़ गया है। इसकी की रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने 1985 मामलों की पुष्टि की है और विभिन्न देशों में संदिग्ध रोगियों में कोरोना वायरस के प्रकोप का खतरा दोगुना हो गया है 

कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को क्या करना चाहिए?


👉 इससे बचने के लिए आपको अपने दिनचर्या पर विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए। जैसे-अपने हाथों को बार-बार साफ करना जरुरी है। 

👉 बाज़ार में या भीड़ भरे इलाकों में जाने से बचें क्योंकि ऐसे स्थानों पर संक्रमित व्यक्ति हो सकते हैं।

👉 अपने मुंह/नाक को ढक कर ही बाहर निकलें और छींकते/खांसते समय मुंह और नाक को ढक कर रखें।

👉 अपने हाथों और पैरों को अपनी आंखों, नाक और मुंह से दूर रखें।

👉 गले में खराश और बुखार के लिए ओवर-द-काउंटर दवा लें। लेकिन 19 साल से छोटे बच्चों या किशोरियों को एस्पिरिन न दें; इसके बजाय इबुप्रोफेन या एसिटामिनोफेन का उपयोग करें। 

👉 अपने हाथों को साबुन और गर्म पानी से या अल्कोहल आधारित हफ्तों सैनिटाइज़र से अच्छी तरह से धोएं।


NOTE :- जोश बिलिंग्स साहब ने बहुत गजब की बात कही है जो एकदम सही है। हमे इस बात पर गौर करना चाहिए। कि हमारा स्वास्थ्य हमारी सबसे बड़ी सम्पति है, इसका अहसास तब होता है जब हम इसे खो देते हैं 

Share what is corona virus and its symptoms in Hindi and please careful and avoid social distancing 

1 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post