जैसा की आप सभी जानते है Corona virus आज पूरी दुनिया में फ़ैल चुका  है , और 53,250 लोगो की जान इस खतरनाक  virus की  वजह से अब तक जा चुकी है , जबकि 1,018,107 लोग इस  virus  से संक्रमित हो चुके है और WHO ( World Health Organization ) भी Covid -19  को  वैष्विक महामारी घोषित कर चुका  है , और अभी तक कोई भी देश इस खतरनाक  virus  का इलाज नहीं  ढूंढ पाया है ,China के साथ-साथ इस virus की वजह से Italy, America, Britain, Germany, France, SpainIran , U.K, Switzerland जैसे superpower देशों  को सबसे ज्यादा जनहानि हुई है , और बहुत बड़ा आर्थिक संकट भी उठाना पड़ रहा है , पूरी दुनिया के लगभग 250 करोड़ लोग Lockdown की वजह से घर में बंद है , और ज़्यादातर देशो में Lockdown का सख्ती से पालन किया  जा रहा है ,इन सब तथ्य को जाने के बाद हम सब के दिमाग में एक प्रश्न उठता है कि Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में कम क्यों  है? तो  आइये जानते है - ये आर्टिकल आप PatrioticTech  पर पढ़ रहे है 



Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में क्यों कम है?
कोरोना वायरस डेथ 


Corona virus प्रकोप को समझते हुए भारत सरकार का समय रहते हुए लिया गए Lockdown का फ़ैसला :-

भारत सरकार ने अन्य देशो में Corona virus की वजह से हो रही महामारी को देखते हुए समय रहते हुए  पूरे  भारत में Lockdown करने का फैसला लिया , और उसे सख्ती से पालन कराने के लिए सभी राज्ये सरकारों को आदेश भी दिया। आज जब पूरा देश Lockdown के आदेश का पालन कर  रहा है तो एक तरह से हम सबको एक नयी ऊर्जा और सोच मिल रही है. Corona virus बिना इंसानी स्पर्श के कुछ घंटों तक ज़िंदा रह सकता है - यानी अगर किसी बीमार व्यक्ति के मुँह से निकला हुआ virus किसी दीवार  या टेबल या हैंडल पर पड़ा है तो वो स्वतः ही कुछ घंटों के बाद समाप्त हो जाएगा - इस  Lockdown से हम उस virus के इंसान से सम्पर्क में आने के अवसर समाप्त कर देंगे और इस प्रकार ये हमारी जीत होगी. जहाँ China जैसे देशों ने अपनी तानाशाही नीतियों से Corona virus से जंग में सफलता हासिल करने के लिए लोगों पर बल का प्रयोग किया वहां India में प्रजातान्त्रिक सरकार ने Janta Curfew  का आह्वान किया जो पूरी तरह से हम लोगों के ऊपर निर्भर है. आज ये वो वक्त है जब लोगों को ये साबित करना है की प्रजातंत्र भी तानाशाही से इस मामले में बेहतर है. वैसे China की तानाशाह सरकार की तारीफ़ करनी पड़ेगी की उन्होंने अपनी हुकूमत से इस बीमारी  को रोकने में सफलता हासिल की - आज बाकी सभी देश इस बीमारी को रोकने में असफल रहे हैं - लेकिन India की असली ताकत अब साबित होगी अगर लोग इस अवसर पर संयम बनाये रखेंगे (मुझे पक्का विश्वास है लोग संयम बनाये रखेंगे और एक सुनहरे कल में प्रवेश करेंगे )





Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में क्यों कम है?
Corona virus के लक्षण 


 पूरे देश एवं सभी  राजनितिक पार्टियों की एक जुटता 

आज India में कई बातों को एक साथ देखने का मौका मिला है. इस भयानक तबाही के समय में सभी लोग और सभी राजनीतिक दल एक साथ हैं - (शाहीन बाग़ जैसे कुछ अपवाद को छोड़ कर) - पुरे देश में लोगों को एक दूसरे को समझाते हुए देखा जा सकता है - लोग आगे आ आ कर एक दूसरे को समझा रहे हैं की ये बीमारी क्या है और कैसे फैलती है. अनेक युवाओं ने इस समय में हमारी भूमिका को रेखांकित करते हुए गाने बनाये हैं जो हमको सिखाते हैं की हमको एक दूसरे से हाथ नहीं मिलाने हैं - सिर्फ नमस्ते कहना है. लोग बड़ी ही जिम्मेदारी से अपना अपना फर्ज निभा रहे हैं. कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम (यानी घर से काम) की व्यवस्था चालु कर दी है. विश्वविद्यालयों ने ऑनलाइन पढ़ाई की शुरुआत कर दी है - अधिकाँश विश्वविद्यालय अपने विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढाई करवाने का तंत्र स्थापित कर चुकें हैं. सभी पार्टियां, गोष्ठियां, मीटिंग्स और जलसे निरस्त कर दिए गए हैं. सभी संस्थाओं ने त्वरित कार्यवाही कर के अपने अपने संगठनों में कार्यप्रणालियों में बदलाव किये हैं ताकि इस तबाही को रोका जा सकते. अस्पतालों ने बड़ी हे मुस्तैदी से अपनी सेवाएं प्रदान की है. जानलेवा बीमारी है लेकिन जिस प्रकार से Doctors  और Nurse काम कर रहे हैं वो काबिले तारीफ़ है. Jaipur  में हाल ही में Italy  से आये हुए Corona के मरीज ठीक हो कर विदा हुए हैं और Jaipur  के एक ८५ वर्षीय मरीज भी ठीक हुए हैं - ये इस बात को रेखांकित करता है की आज हमारे देश की स्वास्थ्य सेवाएं पूरी दुनिया में सबसे शानदार स्वास्थ्य सेवाओं में से एक है और इस बात पर हमको गर्व होना चाहिए. हजारों मरीजों को Isolation में रखने के लिए सुरक्षा सेनाओं ने जिस प्रकार से तुरंत Isolation केम्प बनाये हैं वो भी काबिले तारीफ़ हैं. पूरी दुनिया में China और India के प्रयासों की तारीफ़ हो रही है. चीन में तो तानाशाही है - वहां तो सरकारें कुछ भी करवा सकती है - लेकिन भारत में प्रजातंत्र है जहाँ कुछ भी करवाने की कोशिश करो तो दस विरोधी खड़े हो जाते हैं - वहां इस शानदार कार्य का स्वागत होना चाहिए. प्रजातंत्र को कई लोग भीड़तंत्र भी कहते हैं क्योंकि कई बार लोगों को कुछ पता भी नहीं होता फिर भी जहाँ भीड़ देखते हैं वहां पर आंदोलन करने के लिए चले जाते हैं - और अव्यवस्था पैदा कर देते हैं - लेकिन सौभाग्य से आज पुरे देश में हर व्यक्ति Corona virus के खिलाफ इस जंग में एक साथ है.



Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में क्यों कम है?
Corona virus

Lockdown को वक़्त सभी देशवासियो को एक दूसरे की मदद करना 

सारे रेस्टोरेंट बंद हैं - होटल बंद हैं - लेकिन किसी को भूखा नहीं देखा जा सकता है - जरूरत के अनुसार सब एक दूसरे की मदद कर रहे हैं - एक्के दुक्के पिचके के गाड़े भी नजर आ जाएंगे लेकिन वो गाड़े वाला भी पूरी सावधानी से काम करता हुआ नजर आएगा. कोई व्यक्ति ज़रा सा बीमार पड़ा नहीं - आयुर्वेदिक डॉक्टर उसको काढ़ा पीला देते हैं ताकि कोई बिमारी उसको छू भी नहीं सके. अनेक शहरों में लोगों ने अपनी तरफ से लोगों को काढ़ा पिलाने का काम शुरू किया हुआ है ताकि रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत हो. अनेक लोगों ने दूसरों को तुलसी, नीम के पत्ते, अदरख, नीम्बू और कालीमिर्च बांटने का काम शुरू कर दिया है ताकि कोई बीमार ही नहीं पड़े. आज पूरी दुनिया ताले में बंद हैं लेकिन Indians  लोग संयम के साथ एक दूसरे की मदद कर रहे हैं. सड़कें यहाँ भी सुनी है लेकिन लोगों में अफरातफरी नहीं है. सारे शिक्षण संस्थान बंद हैं लेकिन फिर भी पढ़ाई हो रही है, सारे वित्तीय संस्थान बंद हैं लेकिन फिर भी सारे वित्तीय सौदे हो रहे हैं - सारे सरकारी विभाग बंद हैं लेकिन फिर भी सारे जरुरी काम हो रहे हैं - सारे रास्ते सुने हैं लेकिन फिर भी किसी का काम नहीं रुक रहा है - आपत्ति की इस घडी में भी तकनीक और लोगों के आपसी सहयोग के कारण किसी कके चेहरे पर शिकन तक नहीं है. जहाँ China में पुलिस लोगों को पकड़ कर जबरदस्ती Isolation केम्प में ले जाती है - वहां India  की पुलिस समझा  कर के लोगों को ले जाती है. जहाँ पर China में सरकारी आदेश ही सर्वोपरि है - वहां पर India में हर युवा आगे आ आ कर कुछ न कुछ न्यौछावर  कर रहा है और Corona virus  के बारे में जागरूकता फैलाने और लोगों को सावधानी बरतने का सन्देश दे रहा है. इससे बड़ी बात क्या होगी की लोगों ने अपनी शादियां तक स्थगित कर दी है - ऐसा सरकारी आदेश से नहीं लोगों की समझ और जागरूकता के कारण हुआ है.



Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में क्यों कम है?
Corona  virus 

भारत सरकार ने समय रहते हुए उठाये  बेहतरीन कदम और Corona Virus संक्रमित देशो से अपने  नागरिको को वापिस अपने देश लेकर आना :-

कुछ समय पहले कुछ विदेशी नेताओं ने India की मजाक उड़ाते हुए कहा था की अगर ये त्रासदी China की जगह India में आती तो बहुत बर्बादी आ जाती - आज उन नेताओं की बोलती बंद है क्योंकि  India ने ये दिखा दिया है की भारतीय लोगों में आज उतनी परिपक्वता है जो किसी भी अन्य देश में शायद ही मिले. जो भी बीमारियां आई हैं वे विदेश गए लोग अपने साथ लाये हैं - यहाँ पर उन लोगों पर कड़ी नजर रखने से अन्य लोगों को बचा लिया गया है. विदेशों से आने वाले लोग अक्सर परेशान होते हैं और medical जांच से कतराते हैं - लेकिन अनेक video  सामने आये हैं जिनमे ये पता चलता है की लोगों ने समझा बुझा कर उनको medical जांच के लिए भेजा और फिर १५ दिन Isolation  केम्प में भेजा ताकि बीमारी  आगे नहीं फैले.
जहाँ Pakistan  के विद्यार्थी असहाय बने china  में मौत को करीब से देख रहे थे वहां India  ने पूरी दुनिया में फैले अपने लोगों को बचा कर लाने और उनको पर्याप्त medical  जांच प्रदान करके एक मिसाल कायम की. जहाँ china  की मदद पूरी दुनिया कर रही थी - वहां India खुद पूरी दुनिया की मदद करने के लिए आगे आया हुआ है - पहले इसने china की मदद की फिर पडोसी देशों के नागरिकों को बचाया फिर अनेक देशों को किसी न किसी रूप में मदद प्रदान की और यहाँ तक की अपने दुश्मन Pakistan की भी मदद करने की कोशिश की. India ने पहल कर के एक करोड़ डॉलर की आपात राशि का कोष दान किया ताकि पडोसी देशों को मदद की जा सके. china और कई देशों में Masks , दवाइयों और सेनिटाइज़र की भयंकर कमी हो गई थी तब India ने उनको मदद प्रदान की - India में लोगों ने आगे बढ़ कर एक दूसरे की मदद करते हुए इन सामानों की कमी की समस्याओं को तुच्छ बना दिया.Holi  और गणगौर जैसे पावन त्योंहारों को लोगों ने इस बार सावधानी से मनाया और Corona virus से विजय के लिए मंगल कामनाएं की


Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में क्यों कम है?

आने वाले कुछ समय हम इसी तरह संयम और सावधानियां बरतते जाएंगे तो शीघ्र ही हम Corona  पर विजय हासिल कर लेंगे और अपने लोगों को सुरक्षित बचाये रखेंगे. भारतीय जीवन शैली एक बार फिर पूरी दुनिया के सामने एक आदर्श जीवन व्यवस्था के रूप में सामने आयी है - India का मजाक उड़ाने वाले लोगों को भारतीय लोगों ने अपनी जागरूकता से कडा तमाचा मारा है लेकिन अभी तो जंग बाकी है अतः कुछ कहना नहीं चाहिए. अलप समय में हमने अपनी तकनीकी क्षमता के द्वारा लोगों को परेशानियों से दूर रखा है - ये एक बात का संकेत हैं की भविष्य में India पूरी दुनिया के लिए एक उम्मीद की किरण है - पूरी दुनिया को India से सीख लेनी होगी और प्राचीन भारतीय ग्रन्धों को फिर से पढ़ना पडेगा - परम्परागत ज्ञान का फिर से इस्तेमाल शुरू करना पड़ेगा - विकास के जो रस्ते पश्चिम ने चुने हैं वे विनाश के रास्ते हैं - पर्यावरण को नुक्सान पहुंचा कर और अन्य जीवों का नाश कर के आप आनंदमय जीवन नहीं जी सकते - आपको विकास का असली रास्ता खोजने के लिए फिर से India की पुरातन सभ्यता को खोजना पड़ेगा - जो कुछ पढ़ाई करवाई जा रही है वो बदलनी पड़ेगी - आज आप ये सीखा रहे हैं की रॉकेट किसने बनाया या कार किसने बनाई - अब ये बताइये की योग कैसे करते हैं - क्या खाना चाहिए क्या नहीं - कैसे खाना चाहिए और कैसे पानी पीना चाहिए - खुशहाली कैसे आती है - आनंद कैसे फैलता है - आपसी सौहार्द कैसे फैलता है - स्याद-वाद क्या है - अहिंसा को जीवन में कैसे अपनाएँ - स्वदेशी की भावना से देश का विकास कैसे होगा - ग्रामीण अर्थव्यवस्था कैसे मजबूत हो - ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार कैसे शुरू किये जा सकते हैं - उद्यमिता और नवाचार कैसे आये - जीवन मूल्य क्या है - श्रवण कुमार और दधीचि से क्या प्रेरणा मिलती है - पारिवारिक जीवन मूल्य क्या होते हैं - आर्गेनिक कृषि और पशुपालन कैसे करें - जीवन में संयम को कैसे अपनाएँ आदि - यानी हर शिक्षण संस्थान को आगे आ कर पहल करनी पड़ेगी और पढ़ाई के विषय में काफी बदलाव करना पड़ेगा. India की शिक्षण संस्थाएं देर करेगी तो नुक्सान पूरी दुनिया का होगा. पश्चिम तो आज भारतीय ग्रंथों को फिर से खोजने में लग चुका है - Corona ने उसको ये पाठ तो पढ़ा ही दिया है की शाकाहार और अहिंसा ही असली विकसित मानवीय जीवन मूल्य हैं. आपसे अनुरोध है अगले कुछ सप्ताह और अपना संयम बनाये रखें - भीड़ भाड़ से दूर रहें, सिर्फ नमस्ते करें, नीम्बू, नीम तुलसी अदरक और हल्दी का सेवन करें, शाकाहार और स्वच्छता अपनाएँ और गर्व से कहें की आप पूरी दुनिया की सबसे प्राचीन और शानदार सभ्यता भारतीय सभ्यता के चौकीदार हैं. मातृभाषा और अपने पुरखों के संस्कारों को अपने जीवन में अपनाएँ और बच्चों को सिखाएं और अपने बच्चों से इनको बचाने के लिए व्रत लेवें - अगर उन्होंने इनको दिल से अपना लिया तो समझो अपने अपना पितृ ऋण चुका दिया. .


धन्यबाद, 
Corona virus  पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन उसका फैलने का प्रहार India  में क्यों कम है? को पड़ने के लिए अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे , या कोई सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताये 


Post a Comment

Previous Post Next Post