Nation first in hindi
Nation first in hindi 







राष्ट्रवाद - ऐसा बोला जाता है राष्ट्र से ऊपर कोई नहीं होता है न धर्म न जाति और एक बेहतर राष्ट्र  का निर्माण तभी हो सकता है जब उस देश के युवा और  उस देश के  नागरिक  अपने कर्तव्य , अपने काम और अपने देश के लिए निस्वार्थ भाव से काम करे और एक  मजबूत राष्ट्र की नीव उस राष्ट्र के  युवा के हाथो में होती है वही अपने देश के  भविष्य होते है ,  जो कि हमारे देश ( भारत )  में ऐसा बिलकुल नहीं होता दिखा रहा है हमारे देश के युवा का ध्यान राष्ट्र निर्माण की जगह कही और भटक गया है वह TIKTOK  देखेंगे , PUBG  , खेलेंगे पर ऐसा कोई काम नहीं  करेंगे जिससे  उनका  देश मजबूत हो हमारे  देश के युवा पत्थर फेक सकते है प्रोटेस्ट कर सकते है पर वह अपने देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी को नहीं समझ  सकते है  जिसका मुख्य कारण है  शिक्षा की कमी , एक बेहतर व्यक्तित्व का निर्माण तभी हो सकता है जब वह अपने देश में हो रही समस्या के साथ रूबरू हो , आज हमारे देश में कुछ भी होता है तो हम सीधे सीधे तत्कालीन सरकार  पर आरोप लगाना चालू कर देते है सरकार  के फैसले पर सवाल खड़े होते है पर हम हमारी भी कुछ जिम्मेदारी हैं  ये क्यों नहीं समझते है सब काम सरकार  नहीं कर  सकती है जैसे कि  एक अकेला आदमी घर नहीं चला सकता जब तक उसके घरवाले उसके साथ न  खड़े  हो , ऐसे ही एक सरकार  देश नहीं चला सकती जब  उस तक देश के नागरिक उस सरकार  के साथ खड़े न हो।.   ........


जय हिन्द



अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगे तो जरूर कमेंट करे 


8 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post